स्टार्टअप इंडिया ने ‘MAARG’ पोर्टल के लिए स्टार्टअप आवेदन लॉन्‍च किया

स्टार्टअप इंडिया ने ‘MAARG’ पोर्टल के लिए स्टार्टअप आवेदन लॉन्‍च किया

  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के तहत उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने स्टार्टअप इंडिया द्वारा नेशनल मेंटरशिप प्लेटफॉर्म, मार्ग पोर्टल पर पंजीकरण के लिए स्टार्टअप आवेदनों के लिए एक कॉल लॉन्‍च किया है।
  • भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम, जो वर्तमान में वैश्विक रूप से तीसरे स्थान पर है, को और बढ़ावा देने के लिए स्टार्टअप इंडिया का ध्यान स्टार्टअप संस्कृति को उत्प्रेरित करने तथा भारत में नवोन्मेषण एवं उद्यमशीलता के लिए एक मजबूत और समावेशी इकोसिस्टम का निर्माण करने पर केंद्रित है।

  • इस संदर्भ में ‘MAARG’ (मार्ग) पोर्टलमेंटरशिप, एडवायजरी, असिस्टैंस, रेजीलिएंस तथा ग्रोथविभिन्न सेक्टरों, समारोहों, चरणों, भौगोलिक क्षेत्र और पृष्ठभूमियों में स्टार्टअप्स के लिए संरक्षण की सुविधा प्रदान करने के लिए एक वन स्टॉप प्लेटफॉर्म है।
  • मार्ग पोर्टल के उद्देश्य निम्नलिखित हैं
    • स्टार्टअप्स को उनके पूरे जीवन चक्र तक के लिए सेक्टर फोकस्ड दिशा निर्देश, प्रारंभिक सहायता और सहयोग प्रदान करना।
    • एक औपचारिक और संरचित प्लेटफॉर्म की स्थापना करना जो संरक्षकों तथा उनसे संबंधित सलाहकारों के बीच बुद्धिमत्तापूर्ण मैचमेकिंग की सुविधा प्रदान करता है।
    • स्टार्टअप्स के लिए दक्ष और विशेषज्ञ संरक्षण की सुविधा प्रदान करना तथा एक परिणाम केंद्रित तंत्र का निर्माण करना जो मेंटरमेंटी सहयोगों को ठीक समय पर ट्रैक करने में सक्षम बनाता है।
  • स्टार्टअप्स अब विकास और कार्यनीति पर व्यक्तिगत मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए कृत्रिम आसूचना (एआई) आधारित मैचमेकिंग के माध्यम से प्रभावी तरीके से विश्व भर के अन्य शिक्षाविदों, उद्योग विशेषज्ञ, सफल संस्थापकों, अनुभवी निवेशकों और अन्य विशेषज्ञों के साथ प्रभावी तरीके से जुड़ सकते हैं।
  • पोर्टल की मुख्य विशेषताओं में इकोसिस्टम सक्षमकर्ताओं के लिए कस्टमाइजेबल मेंटरशिप प्रोग्राम, मोबाइल फ्रेंडली यूजर इंटरफेस, योगदान देने वाले संरक्षकों को सम्मान, वीडियो एवं ऑडियो कॉल ऑप्शन, आदि शामिल हैं।
  • नवोन्मेष किसी राष्ट्र के लिए विकास के अपरिहार्य वाहक होते हैं और केवल भारत में ही 82,000 से अधिक और डीपीआईआईटी मान्यता प्राप्त स्टार्टअप्स तथा 107 से अधिक यूनिकॉर्न हैं।
  • उद्यमशीलता हमरे महान राष्ट्र की आर्थिक संपदा तथा समृद्धि की नींव है और हम तेजी से रोजगार चाहने वाले देश से बदल कर रोजगार सृजन करने वाले राष्ट्र के रूप में रूपांतरित हो रहे हैं।
CIVIL SERVICES EXAM