स्वदेशी रूप से डिजाइन एवं विकसित लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (एलसीएच) भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया

स्वदेशी रूप से डिजाइन एवं विकसित लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (एलसीएच) भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया

  • रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने रक्षा में आत्मनिर्भरता को एक बड़ा प्रोत्साहन देते हुए 3 अक्टूबर 2022 को जोधपुर में भारतीय वायु सेना (आईएएफ) में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) द्वारा डिजाइन और विकसित किए गए हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर (एलसीएच) को औपचारिक रूप से शामिल करने के समारोह की अध्यक्षता की।

  • एलसीएच काप्रचंडनामकरण करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि इसका वायुसेना में आगमन अमृत काल के दौरान ऐसे समय हो रहा है जब राष्ट्र आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है।
  • क्षा मंत्री ने भारतीय वायुसेना में शामिल होने के तुरंत बाद एलसीएच में एक उड़ान भरी।

प्रचंड (हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर):

  • एलसीएच पहला स्वदेशी मल्टीरोल कॉम्बैट हेलीकॉप्टर है जिसे एचएएल द्वारा डिजाइन और निर्मित किया गया है। इसमें शक्तिशाली जमीनी हमले और हवाई युद्ध क्षमता है
  • हेलीकॉप्टर में आधुनिक स्टील्थ विशेषताओं, मजबूत कवच सुरक्षा और रात में हमला करने की दुर्जेय क्षमता है।
  • इसपर उन्नत नेविगेशन प्रणाली, निकट युद्ध के लिए तैयार बंदूकें और शक्तिशाली हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें एलसीएच को आधुनिक युद्धक्षेत्र के लिए विशेष रूप से अनुकूल बनाती हैं
  • ऊंचाई वाले इलाकों से संचालन करने और ऊंचाई वाले लक्ष्यों पर सटीक हमले करने में सक्षम यह हेलीकॉप्टर भारतीय वायुसेना के शस्त्रागार के लिए एक शानदार प्लेटफॉर्म है।

Note: यह सूचना प्री में एवं मेंस के GS -3, के प्रौद्योगिकी का स्वदेशीकरण और नई तकनीक विकसित करनावाले पाठ्यक्रम से जुड़ा हुआ है।

CIVIL SERVICES EXAM