अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस (International Youth Day) हर साल 12 अगस्त को मनाया जाता है। स्वामी विवेकानंद की जयंती को हर वर्ष 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस (National Youth Day NYD) के रूप में आयोजित किया जाता है।

मुख्य बिंदु

  • इस अवसर पर, दुनिया भर की सरकारें और नागरिक युवाओं के सामने आने वाली समस्याओं को पहचानने और उनकी ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए एक साथ आते हैं।
  • इस दिन को कई जागरूकता अभियानों, सामुदायिक समारोहों और सामाजिक-आर्थिक और सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों को लाने वाले कार्यक्रमों द्वारा मनाया जाता है, जिनका सामना हर देश के युवा करते हैं।

पृष्ठभूमि

संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 1999 में हर साल 12 अगस्त को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की घोषणा की। इसकी घोषणा लिस्बन में संयुक्त राष्ट्र महासभा में “युवाओं के लिए जिम्मेदार मंत्रियों के विश्व सम्मेलन” (World Conference of Ministers Responsible for Youth) द्वारा की गई सिफारिश के आधार पर की गई थी।

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस 2022 के लिए थीम

संयुक्त राष्ट्र हर साल एक थीम तय करता है जो सभी वैश्विक समुदायों और नागरिकों के लिए प्रासंगिक है। इस वर्ष, यह दिवस “Intergenerational solidarity : Creating a world for all ages” थीम के तहत मनाया जा रहा है।

थीम का महत्व

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, इस वर्ष की थीम समावेशी समर्थन तंत्र की महत्वपूर्ण आवश्यकता पर प्रकाश डालती है जो यह सुनिश्चित करता है कि युवा सामूहिक रूप से और व्यक्तिगत रूप से प्रयासों को जारी रखें।

स्वामी विवेकानंद (1863-1902) :

  • स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 को हुआ तथा उनके बचपन का नाम नरेंद्र नाथ दत्त था।
  • उन्होंने दुनिया को वेदांत और योग के भारतीय दर्शन से परिचित करवाया।
  • वे 19वीं सदी के आध्यात्मिक गुरु एवं विचारक रामकृष्ण परमहंस के शिष्य थे।
  • उन्होंने अपनी मातृभूमि के उत्थान के लिये शिक्षा पर सबसे अधिक ज़ोर दिया। साथ ही उन्होंने चरित्र-निर्माण आधारित शिक्षा का समर्थन किया।
  • वर्ष 1897 में उन्होंने रामकृष्ण मिशन की स्थापना की। रामकृष्ण मिशन एक संगठन है, जो मूल्य-आधारित शिक्षा, संस्कृति, स्वास्थ्य, महिला सशक्तीकरण, युवा और आदिवासी कल्याण एवं राहत तथा पुनर्वास के क्षेत्र में काम करता है।
  • वर्ष 1902 में बेलूर मठ में उनका निधन हो गया। पश्चिम बंगाल में स्थित बेलूर मठ, रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन का मुख्यालय है।

SOURCE-GK TODAY

PAPER-G.S.1PRE