आज ही के दिन (19 सितंबर) दुनिया में पहली बार महिलाओं को मिला था वोट करने का अधिकार

आज ही के दिन (19 सितंबर) दुनिया में पहली बार महिलाओं को मिला था वोट करने का अधिकार

  • महिलाओं को सबसे पहले वोट देने का अधिकार न्यूजीलैंड ने आज ही के दिन (19 सितंबर) दिया था।
  • न्यूजीलैंड के लार्ड ग्लास्गो ने 19 सितंबर, 1893 को ए बिल पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत महिलाओं को वोट करने का कानूनी अधिकार मिला था।
  • इसके लिए केट शेपर्ड ने एक लंबा आंदोलन चलाया, जिनकी तस्वीर वहां के 10 डॉलर के नोट पर छपी है।
  • किसकिस देश ने कब महिलाओं को वोट करने का अधिकार दिया:

फिनलैंड (1906):

  • फिनलैंड जब रूस का हिस्सा था, तब 1906 के दौरान उसने महिलाओं को वोट करने का अधिकार दिया। इसके बाद यहां 1907 के चुनाव में महिलाओं ने पहली बार अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

रूस (1917):

  • रूस में महिलाओं को वोट करने का अधिकार प्राप्त करने के लिए लंबी लड़ाई लड़नी प़ड़ी। साल 1917 में पेत्रोग्राद में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन के बाद रूसी महिलाओं को वोट करने का अधिकार मिला

जर्मनी (1918):

  • साल 1918 में शुरू होने वाले चुनाव के लिए जर्मन महिलाएं मतदान कर सकती थीं और भाग सकती थीं।

ब्रिटेन (1918):

  • ब्रिटेन ने साल 1918 में महिलाओं को वोट करने का अधिकारी दिया। शुरुआती दौर में 30 साल या उससे अधिक उम्र की महिलाएं वोट डाल सकती थीं, जबकि पुरुषों की उम्र सीमा 21 साल थी। अब वहां वोट करने की न्यूनतम उम्र 18 साल है।

अमेरिका (1920):

  • अमेरिका में महिलाओं को वोट देने का अधिकार मिलने में 144 साल लग गए थे। अमेरिका में महिलाओं को मताधिकार 1920 में दिया गया

Source: हिंदुस्तान समाचार पत्र

Note: यह सूचना प्री वाले पाठ्यक्रम से जुड़ा हुआ है।