कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने दिसंबर, 2022 के दौरान 14.93 लाख कुल सदस्य जोड़े

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने दिसंबर, 2022 के दौरान 14.93 लाख कुल सदस्य जोड़े

  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने 20 फरवरी को अपना अनंतिम पेरोल डेटा जारी किया
  • इसमें बताया गया है कि ईपीएफओ ने दिसंबर, 2022 में 14.93 लाख कुल सदस्य जोड़े हैं। पेरोल डेटा की साल-दर-साल तुलना करने पर वर्ष 2021 के दिसंबर महीने की तुलना में 2022 के इसी महीने में कुल सदस्‍यता वृद्धि में 32,635 की वृद्धि प्रदर्शित करता है।
  • महीने के दौरान जोड़े गए 14.93 लाख सदस्यों में से करीब 8.02 लाख नए सदस्य पहली बार ईपीएफओ के सामाजिक सुरक्षा दायरे में आए हैं।

  • ईपीएफओ में नए शामिल होने वाले सदस्यों में, सर्वाधिक नामांकन 18-21 वर्ष के आयुवर्ग में हुआ। इसके बाद, 22-25 वर्ष के आयुवर्ग में 2.08 लाख सदस्यों का पंजीकरण किया गया है
  • महीने के दौरान कुल नए सदस्यों में 18-25 वर्ष के आयु वर्ग के सदस्यों की संख्या 55.64 प्रतिशत है
  • यह इंगित करता है कि ईपीएफओ में शामिल होने वाले अधिकांश सदस्य पहली बार नौकरी करने वाले हैं, जो देश के संगठित क्षेत्र के कार्यबल में शामिल हो रहे हैं
  • पेरोल के डेटा का जेंडर के आधार पर विश्लेषण करने पर संकेत मिलता है कि दिसंबर, 2022 में 2.05 लाख नई महिला सदस्यों का नामांकन हुआकुल नए शामिल होने वालों में नई महिला सदस्यों का प्रतिशत नवंबर 2022 में 25.14 प्रतिशत से बढ़कर चालू माह के दौरान 25.57 प्रतिशत हो गया।
  • पेरोल का राज्यवार डेटा बताता है कि कुल सदस्य जोड़ने के मामले में शीर्ष पांच राज्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, कर्नाटक, हरियाणा हैं। इन राज्यों ने मिलकर महीने के दौरान कुल सदस्यों की संख्‍या में 60.08 प्रतिशत हिस्‍सा जोड़ा
  • सभी राज्यों में, माह के दौरान कुल सदस्यों की संख्या में 24.82 प्रतिशत सदस्‍य जोड़कर महाराष्ट्र सबसे आगे है, इसके बाद 10.08 प्रतिशत सदस्‍यों के साथ तमिलनाडु राज्य का नंबर है।

Any Doubts ? Connect With Us.

Related Links

Connect With US Socially

Request Callback

Fill out the form, and we will be in touch shortly.