राष्ट्रीय युवा दिवस

प्रतिवर्ष 12 जनवरी को समाज सुधारक, विचारक व यूथ आइकॉन स्वामी विवेकानंद के जन्म दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य स्वामी विवेकानंद के महान विचारों के प्रति जागरूकता फैलाना है। वे देश के युवाओं के लिए एक महान प्रेरणास्त्रोत हैं।

1984 में भारत सरकार ने 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस घोषित किया था। तत्पश्चात 1985 से प्रतिवर्ष 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। इस दिवस के अवसर पर देश भर में सेमिनार, भाषण, युवा वार्ता, योगासन, निबंध लेखन प्रतियोगिता इत्यादि विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाता है।

स्वामी विवेकानंद के बारे में रोचक तथ्य

  • स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 को बंगाल प्रेसीडेंसी के कलकत्ता में हुआ था।
  • उनका मूल नाम नरेन्द्रनाथ दत्त था।
  • वे 19वीं शताब्दी के प्रसिद्ध संत रामकृष्ण परमहंस के शिष्य थे।
  • उन्हें भारत में हिन्दू धर्म के पुनर्जागरण व राष्ट्रवाद का प्रणेता माना जाता है।
  • उन्होंने 1893 में अमेरिका के शिकागो में विश्व धर्म संसद में ऐतिहासिक भाषण दिया था और विश्व से हिन्दू धर्म का परिचय करवाया था।
  • स्वामी विवेकानंद को उनके प्राचीन हिन्दू दर्शन के ज्ञान, अकाट्य तर्क तथा वैज्ञानिक दृष्टिकोण के समायोजन के लिए जाना जाता है।
  • स्वामी विवेकानंद का निधन 4 जुलाई, 1902 को हुआ था।

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा दिसम्बर, 1999 में की गयी थी। इसके लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 54/120 प्रस्ताव पारित किया था। पहली बार 12 अगस्त, 2000 को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया था। इसके लिए 8-12 अगस्त, 1998 में पुर्तगाल के लिस्बन में आयोजित World Conference of Ministers Responsible for Youth द्वारा सिफारिश की गयी थी।

SOURCE-GK TODAY

PAPER-G.S.1PRE