वर्ष 2021-22 के लिए कोयला मंत्री पुरस्कार

वर्ष 2021-22 के लिए कोयला मंत्री पुरस्कार

  • वर्ष 2021-22 का कोयला मंत्री पुरस्कार प्रदान करने के लिए आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए केन्द्रीय कोयला, खान और संसदीय कार्य मंत्री श्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि कोयला क्षेत्र ने भारत की ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  • वर्ष 2021 में पहली बार शुरू किए गए ये पुरस्कार तीन श्रेणियोंसुरक्षा, उत्पादन एवं उत्पादकता निरंतरता (सस्टेनेबिलिटी)– में प्रदान किए गए थे।
  • इन पुरस्कारों के दायरे में विस्तार करते हुए, इस वर्ष गुणवत्ता और ईआरपी कार्यान्वयन की दो नई अतिरिक्त श्रेणियां जोड़ी गई हैं
  • प्रथम पुरस्कार विजेता:
    1. महानदी कोल फील्ड लिमिटेड ने तीन श्रेणियों- सुरक्षा, उत्पादन एवं उत्पादकता और गुणवत्ता
    2. वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड को निरंतरता (सस्टेनेबिलिटी)
    3. नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड ने ईआरपी के कार्यान्वयन

Coal India Limited का प्रदर्शन:

  • सीआईएल द्वारा अब तक (11 अगस्त, 2022 तक) किए गए 224 मिलियन टन (एमटी) के उत्पादन ने 24 प्रतिशत की मजबूत वृद्धि हासिल की, जोकि पहले कभी नहीं देखा गया था।
  • साथ ही, एक ऐसे समय में जब देश महामारी के बाद आर्थिक विकास को मजबूती से पुनर्जीवित कर रहा है, कोल इंडिया का पूंजीगत व्यय वित्तीय वर्ष 2022 में 15,400 करोड़ रुपये के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है जोकि लगातार दूसरे वर्ष निर्धारित लक्ष्य से अधिक है।

Note: यह सूचना प्री में एवं मेंस के GS -3, के अर्थ व्यवस्था के  बुनियादी ढांचा वाले पाठ्यक्रम के सीधे तौर से जुड़ा हुआ है।