विश्व के स्वदेशी लोगों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

विश्व के स्वदेशी लोगों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

विश्व के स्वदेशी लोगों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day of the World’s Indigenous Peoples) दुनिया भर में हर साल 9 अगस्त को मनाया जाता है। यह स्वदेशी लोगों की भूमिका और उनके अधिकारों के संरक्षण के महत्व पर प्रकाश डालता है। यूनेस्को इस दिन को दिन के वार्षिक विषय के अनुरूप परियोजनाओं और गतिविधियों पर जानकारी साझा करके मनाता है।

थीम

वर्ष 2022 में, विश्व के स्वदेशी लोगों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस “पारंपरिक ज्ञान के संरक्षण और प्रसारण में स्वदेशी महिलाओं की भूमिका” थीम के तहत मनाया जा रहा है।

स्वदेशी महिलाओं की स्थिति

दुनिया भर में स्वदेशी महिलाओं का अपर्याप्त प्रतिनिधित्व है। उन्हें कई प्रकार के भेदभाव और हिंसा का सामना करना पड़ता है।

स्वदेशी लोगों के अधिकार

स्वदेशी लोगों के अधिकार उनकी विशिष्ट स्थिति को पहचानने के लिए मौजूद हैं। इन अधिकारों में शामिल हैं – भौतिक अस्तित्व और अखंडता के बुनियादी मानवाधिकार, साथ ही साथ उनकी भूमि, धर्म, भाषा और सांस्कृतिक विरासत के अन्य तत्वों पर अधिकार।

दिन का इतिहास

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 9 अगस्त को विश्व के स्वदेशी लोगों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में घोषित करने के लिए 23 दिसंबर, 1994 को प्रस्ताव 49/214 पारित किया था। 9 अगस्त, 1982 को स्वदेशी आबादी पर संयुक्त राष्ट्र कार्य समूह की पहली बैठक हुई थी। वर्ष 1993 को “विश्व के स्वदेशी लोगों के अंतर्राष्ट्रीय वर्ष” के रूप में भी मनाया गया था।

SOURCE-GK TODAY

PAPER-G.S.1PRE