ई-गवर्नेंस पर राष्ट्रीय सम्मेलन 2022

24वें राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन (National E – Governance Conference) का आयोजन प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (DARPG), तेलंगाना राज्य सरकार और इलेक्ट्रॉनिक्स व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा 7-8 जनवरी, 2022 को किया गया। यह सम्मेलन हैदराबाद इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर, माधापुर में आयोजित किया गया।

थीम

इस सम्मेलन का आयोजन “India’s Techade: Digital Governance in a Post Pandemic World” थीम के तहत किया गया।

ई-गवर्नेंस के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार 2021

इस सम्मेलन के दौरान पुरस्कार भी प्रदान किए गये। यह पुरस्कार 6 श्रेणियों में प्रदान किए गये। 26 ई-गवर्नेंस पहलों को पुरस्कार प्रदान किए गये। यह 6 श्रेणियां हैं डिजिटल परिवर्तन के लिए सरकारी री-इंजीनियरिंग में उत्कृष्टता, जिला स्तर पर ई-गवर्नेंस में उत्कृष्टता, ई-सेवाओं तक पहुंच को सार्वभौमिक बनाना, नागरिक केंद्रित सेवाओं पर उत्कृष्ट शोध, कोविड-19 प्रबंधन में ICT का उपयोग, उभरती प्रौद्योगिकियों का उत्कृष्ट अंगीकरण।

महत्व

यह ई-गवर्नेंस पहलों को गति प्रदान करेगा। यह उद्योगों और सिविल सेवकों को ई-गवर्नेंस में अपने सफल उपयोग का प्रदर्शन करने का अवसर प्रदान करता है। यह एंड टू एंड सर्विस डिलीवरी में सुधार करता है।

ई-गवर्नेंस को बढ़ावा देना क्यों जरूरी है?

भारत सरकार डिजिटल इंडिया के माध्यम से देश का डिजिटलीकरण कर रही है। ई-शासन सामाजिक परिवर्तन और आर्थिक समावेशन को प्रेरित करने के लिए महत्वपूर्ण है। साइबर धोखाधड़ी, फर्जी समाचार आदि से निपटने के लिए सुरक्षित ई-गवर्नेंस की ओर बढ़ना आवश्यक है। साथ ही, ई-गवर्नेंस लागत में कमी, सेवाओं में आसानी और रियल टाइम गवर्नेंस में मदद करता है। यह जवाबदेही और पारदर्शिता में भी मदद करता है।

SOURCE-THE HINDU

PAPER-G.S.2