‘हर घर जल’ प्रमाणित राज्य और केंद्र शासित प्रदेश

हर घर जलप्रमाणित राज्य और केंद्र शासित प्रदेश

  • गोवा और दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव देश में क्रमशः पहलाहर घर जलप्रमाणित राज्य और केंद्र शासित प्रदेश बन गया है जहां सभी गांवों के लोगों ने अपने गांव को ‘हर घर जल’ के रूप में घोषित किया है।
  • ग्राम सभा द्वारा पारित प्रस्ताव के जरिए यह प्रमाणित किया गया है कि गांवों के सभी घरों में नल के माध्यम से सुरक्षित पेयजल उपलब्ध है और यह सुनिश्चित किया गया है कि ‘कोई भी छूटा नहीं है’।
  • गोवा के सभी 2.63 लाख ग्रामीण परिवारों और दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के 85,156 घरों में नल कनेक्शन के माध्यम से पीने योग्य पानी की पहुंच है।

जल जीवन मिशन:

  • जल जीवन मिशन भारत सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है जिसकी घोषणा 15 अगस्त, 2019 को प्रधानमंत्री द्वारा लाल किले की प्राचीर से की गई थी।
  • उद्देश्य: देश के प्रत्येक ग्रामीण परिवार के 2024 तक लिए नियमित और दीर्घकालिक आधार पर पर्याप्त मात्रा में, निर्धारित गुणवत्ता के पेयजल आपूर्ति का प्रावधान करना है।
  • यह कार्यक्रम भारत सरकार द्वारा राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के साथ साझेदारी में कार्यान्वित किया जाता है।
  • मिशन का एक महत्वपूर्ण पहलू पानी की गुणवत्ता भी है और इसे सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक गांव में कम से कम पांच महिलाओं को जल परीक्षण करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है
  • देश में 52 प्रतिशत से अधिक ग्रामीण परिवार अब नल के पानी से जुड़े हुए हैं जो इस 15 अगस्त 2019 को केवल 17 प्रतिशत था।

Note: यह सूचना प्री में एवं मेंस के GS-3, के अर्थ व्यवस्था के  समावेशी विकास और इससे उत्पन्न होने वाले मुद्दे वाले पाठ्यक्रम से जुड़ा हुआ है।