कर्मचारी भविष्य निधि संगठन से सितंबर 2022 में 16 लाख 82 हजार लोग जुड़े

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन से सितंबर 2022 में 16 लाख 82 हजार लोग जुड़े

  • कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन से इस वर्ष सितंबर में 16 लाख 82 हजार अंशदाता जुड़े। ईपीएफओ से जारी अस्‍थायी पे-रोल डेटा के अनुसार पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में सदस्‍यों की संख्‍या में14 प्रतिशत की वृद्धि हुई।
  • श्रम और रोजगार मंत्रालय के अनुसार सितंबर में संगठन से जुड़े 16 लाख 82 हजार सदस्यों में से लगभग 9 लाख 34 हजार सदस्य पहली बार ईपीएफओ के दायरे में आये हैं।

  • नये सदस्‍यों में सर्वाधिक संख्‍या 18 से 21 वर्ष आयु वर्ग के लोगों की है। 58 प्रतिशत से अधिक सदस्‍य 18 से 25 वर्ष आयु वर्ग के हैं।
  • यह दर्शाता है कि पहली बार रोजगार तलाशने वाले बड़ी संख्‍या में संगठित क्षेत्र के कार्यबल से जुड़ रहे हैं।
  • कुल वेतन भुगतान के आंकड़े अस्‍थायी हैं क्योंकि आंकड़े तैयार करना एक निरन्‍तर प्रक्रिया है, क्योंकि कर्मचारी रिकॉर्ड को अपडेट करने का कार्य निरंतर किया जाता है।
  • सितम्‍बर, 2017 की अवधि को शामिल करते हुए ईपीएफओ अप्रैल-2018 के महीने से कुल वेतन भुगतान के आंकड़े जारी कर रहा है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन:

  • ईपीएफओ भारत का प्रमुख संगठन है जो कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान कानून, 1952 के तहत संगठित क्षेत्र के कार्यबल को सामाजिक सुरक्षा कवरेज प्रदान करने के लिए जिम्मेदार है
  • यह अपने सदस्यों को भविष्य निधि, सदस्यों को उनकी सेवानिवृत्ति पर पेंशन लाभ और परिवार पेंशन और सदस्य की असामयिक मृत्यु के मामले में उनके परिवारों को बीमा लाभ जैसी अनेक सेवाएं देता है।
CIVIL SERVICES EXAM